ब्लॉग्गिंग और ब्लॉग से जुड़ी 10 महत्वपूर्ण बातें

0
233

नमस्कार दोस्तों यह एक गेस्ट पोस्ट है जो कि contentmart.com द्वारा की गयी है| ContentMart एक ऐसी साइट है, जहाँ आप अपनी वेबसाइट के लिए ब्लॉग्गिंग के विशेषज्ञय को काम पर रख सकते है| इस साइट के द्वारा आपको अपनी वेबसाइट के लिए अच्छे दर पर ब्लॉग और उससे जुड़े कंटेंट मिल जाते है| इस साइट से लिए गए ब्लॉग बिलकुल असली होते है|

ब्लॉग्गिंग क्या है

ब्लॉग आज के समय का नया ट्रेंड है | यह किसी भी छोटी कंपनी या वेबसाइट का जर्नल या डायरी का ऑनलाइन रूप है| कम्पनियां ब्लॉग द्वारा प्रतिदिन या हर हफ्ते का न्यूज़ लेटर होता है| आप अपने विचार भी ब्लॉग द्वारा लोगो (व्यूवर) को बता सकते है| आप अपनी वेबसाइट पर अपने ब्लॉग पोस्ट कर सकते है|

ब्लॉग पोस्ट करने का कोई लिमिट नहीं होता है आप दिन में दो से चार ब्लॉग पोस्ट कर सकते है| अगर आपके पास कंटेंट अच्छा है तो आप जितना चाहे ब्लॉगपोस्ट लिख सकते है | ब्लॉग तो सब ही लिखते है, लेकिन एक अच्छा ब्लॉग लिखने की चुप छुपी बातें होती है| उन बातों को अगर ब्लॉग में शामिल किया जाये तो ब्लॉग को अच्छा ट्रैफिक मिलने लगता है|

 

 




 

ब्लॉग्गिंग की 10 छुपी बातें

बड़े ब्लोग्गेर्स (bloggers) ने कहा है की ब्लॉग्गिंग की बहुत सी बातें उन्हें ब्लॉग्गिंग करते करते पता चली| ब्लॉग्गिंग करते हुए जरुरी नहीं है है की आपको सफलता ही मिले, ये बातें समय के साथ आती है| एक नए ब्लॉगर को ये बातें जानने में समय नहीं लगे इस लिए १० ऐसी बातें जो आपको ब्लॉग्गिंग में आने वाली विभिन्न परेशानियों और चुनौतियों का सामना करना आये|

1. आंतरिक और बाहरी लिंकिंग(internal and external linking):- एक ब्लॉग पोस्ट में आंतरिक लिंक (आपके वेबसाइट की दूसरे ब्लोग्स की लिंक) होनी चाहिए| आंतरिक लिंक्स होने से एक व्यूअर आपकी वेबसाइट पर जयादा से जयादा समय बीताता है|

बाहरी लिंक्स किसी दूसरे वेबसाइट की या कोई अद्वेर्तिसेमेन्ट भी हो सकता है| ब्लॉग की शुरुआत में आंतरिक लिंक होनी चाहिए, बीच में एक बाहरी लिंक| लिंक्स की संख्या ज्यादा हो तो ब्लॉग को सर्च-इंजन द्वारा स्पैम घोसित क्र दिया जाता है| कीवर्ड को संख्या ब्लॉग की की शीर्षक में नहीं होनी चाहिए, कीवर्ड का उचित ब्लॉग की कंटेंट में होनी चाहिए|

 

2. कीवर्ड:- कीवर्ड ब्लॉग में दालना चाहिए, कीवर्ड एक इस्तेमाल ब्लॉग की बॉडी और शीर्षक में होना चाइये| कीवर्ड को जबरदस्ती नहीं डालना चाहिए और न ही कीवर्ड एक उपयोग ऐसे वाक्यो में करना चाहिए जिनसे कोई अर्थ न निकलता हो|

 

3. कंटेंट:- ब्लॉग का कंटेंट ज्ञानवर्धक होना चाहिए, ब्लॉग में किसी बात को २ बार से अधिक नहीं दोहराना चाहिए| ब्लॉग की भाषा की रती रटाई नहीं होनी चाहिए, ब्लॉग को लिखते हुए अच्छे व्याकरण का उपयोग करना चाहिए|ब्लॉग को क्लीचे (cliche) करना गलत होता है, क्लीचे की कुछ उद्धरण जो ब्लॉग में पाए जाते है| वो इस प्रकार है, १) इस दौर में.२) उच्चाइयों को छुए| ये बातें आपकी ब्लॉग की गुणवतता को घटा देती है|

 

4. नियमित ब्लॉगपोस्ट:- अगर आप अपनी वेबसाइट पर नियमित रुप से करते रहना चाहिए| अगर आप रोज़ 4 ब्लॉग पोस्ट करते है तोह रोज़ाना 4 पोस्ट ही करना चाहिए| ब्लॉग हर हफ्ते या हफ्ते में 2 दिन पोस्ट हो, या फिर रोज़ाना ये पूरी तरह आप पर निर्भर करता है| ब्लॉग को नियमित रूप से पोस्ट करने में कंटेंट का भी धयान देना होता है| नियमित रूप से ब्लॉग करने की लिए कंटेंट की गुणवत्ता नहीं गिरनी चाहिए|

 

5. धीरज और धयान केंद्रित रखे:- किसी भी वेबसाइट को शुरुआत में सफलता मिल जाये, ये जरुरी नहीं होता हो सकता है अगर आपको शुरुवात में सफलता नहीं मिले तो धीरज नहीं खोना चाहिए|

समय की साथ साथ सफलता मिलती है, कंटेंट की गुणवत्ता अच्छी होती है तो फोल्लोवेर्स और व्यूअर भी बढ़ते है| वेबसाइट पर ध्यानपूर्वक ब्लॉग करते रहे, और साथ में यह भी ध्यान में रखना चाहिए की आपके द्वारा दी गयी जानकारी सही है, क्योकि जो जानकारी एक बार ऑनलाइन होती है उसकी जिम्मेदारी आपकी ही होती है|

 



 

6. विषेशज्ञता:- अपनी विषेशज्ञता की अनुसार की ब्लॉग का कंटेंट रखना चाहिए| अगर आपको ट्रेवल , फ़ूड, किड्स एंड पेरेंटिंग की जानकारी है तोह आपके ब्लॉग उन्ही की अनुसार होने चाहिए| आपको जिस फील्ड की जानकारी नहीं होगी उसकी फील्ड की ब्लॉग में आपकी गुणवत्ता नहीं दिखेगी| तो अपने विशेशज्ञाता की अनुसार ही ब्लॉग की छेत्र का चुनाव करे|

 

7. मूल कंटेंट:- गूगल और दूसरे सर्च इंजन नकली कंटेंट को स्वीकार नहीं करते है| आपको अपनी वेबसाइट पर आपके असली कंटेंट ही पोस्ट करने चाहिए, नकली कंटेंट से वेबसाइट की गुडविल और विश्वसनीयता पर भी असर होता है|

 

8. कंटेंट की गुणवत्ता चित्रों और दिर्शयों से बढ़ाना:- कंटेंट को और अच्छा बनाने के लिए लिए कंटेंट से मिलता जुलता चित्र लगाना चाहिए| इससे पढ़ने वाले की ब्लॉग में रूचि बानी रहती है|

चित्रों की द्वारा कंटेंट की जानकारी मिलना आपकी वेबसाइट की लिए बहुत अच्छी बात होती है| कंटेंट की गुणवत्ता को बढ़ने वाले चित्रों का इस्तेमाल ही ब्लॉग की लिए अच्छा माना जाता है| चित्रों के उपयोग में यह अवश्य ध्यान रखे की उस चित्र पर कोई कॉपीराइट नहीं हो|

 

9. शीर्षक:- उपर्युक्त सभी बातो का ध्यान रखे, लेकिन कंटेंट के शीर्षक कर अवश्य धयान दे| शीर्षक से व्यूअर की ब्लॉग की तरह रूचि भी बढे| शीर्षक रखते समय यह भी ध्यान देना चाहिए की शीर्षक से कंटेंट की पूरी जानकारी भी ना हो, लेकिन शीर्षक अधूरा भी ना लगे|

शीर्षक गुमराह करने वाला नहीं होना चाहिए होना चाहिए| कंटेंट और शर्शक जुड़े हुए होने चाहिए जिससे की सर्च इंजन पर आपका ब्लॉग खोजने पर मिल जाये| कीवर्ड के इस्तेमाल शीर्षक में उचित तरीके से करना चाहिए जिससे की वो जबरदस्ती भरा हुआ भी ना लगे और एक अच्छा शीर्षक भी बने|

 

10. अच्छे योगदान देने वाले लेखको को वेबसाइट से जोड़ना:- अगर आप अपनी वेबसाइट की गुणवत्ता और बढ़ाना चाहते है तो दूसरे लेखकों जिनकी विशेषता दूसरे छेत्रो में है | आप दूसरे लेखकों को अपनी वेबसाइट पर काम करने की लिए भी रख सकते है या फिर आप उन्हें अतिथि लेखक की रूप में बुला सकते है|

 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here