काजू कैसे खाये ? काजू के फायदे और काजू के नुकसान हिंदी में

5
10033

काजू[Cashew] जिसे लोग ज्यादातर ठंड मे खाते है और इसके फायदे बहुत कम लोग ही जानते होगे ।
सूखे मेवों में काजू का नाम पहले स्थान पर आता है। काजू भले ही थोड़ा महंगा हो लेकिन इसे नियमित रूप से खाने के कई स्वास्थ्य वर्धक फायदे हैं।काजू का सूखे मेवे के रूप में सेवन किया
जाता है। काजू से अनेक तरह की मिठाइयां व अन्य व्यंजन तैयार किए जाते है। काजू खाने से अनेक
प्रकार की बीमारियां कंट्रोल में आती हैं । काजू को हद से ज्यादा भी नहीं खाना चाहिये। काजू में मिनरल्स जैसे मैगनीशियम, पोटैशियम, कॉपर,आयरन, मैगनीज़, जिंक और सीलियम होते ह
 

 
काजू के फायदे:
1-बालो के मजबूती – काजू में कॉपर
होता है जो बालो में मजबूत बनता है |
मजबूत मसूड़े – काजू खाने से मंसुड़ो के तकलीफ
से दूर होती है और साथ हि साथ चमकदार
बनाने में मददगार साबित होता है |
2-खुबसुरत चेहरे के लिए – काजू को भिगो के इसे
पिस कर इसका लेप तयार कर इसे आपने चेहरे पर
लगाए , इससे आपके चेहरे पर निखर बरकरार
रहेगी | इसके रोज इस्तेमाल से त्वचा में रौनक
आयेगी |त्वचा के लिए भी काजू को दूध में मिलाकर
रगड़ने से त्वचा सुंदर और मुलायम बनती है। इससे रंगत भी
निखरती है।
3-कैंसर के लिए कारगर – काजू में पाये जाने
वाले ingredients और chemical कैंसर से लड़ने में
कारगर सिद्ध होते है |काजू में एंटी ओक्सिडेंट जैसे विटामिन ई जो कि कैंसर से बचाव करता है। इसके साथ
ही इसमें जिंक होता है जो कि संक्रमण से लड़ने में मदद
करता है।
4-दिल के लिये फायदेमंद
काजू में मोनो सैचुरेटड फैट होता है जो की दिल को
स्वस्थ रखता है और दिल की बीमारियों के खतरे को
कम करता है। इसमें बिल्कुल भी कोलेस्ट्रॉल नहीं
होता है।काजू हमारे दिल के स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है
5-शरीर बनाए मजबूत
काजू में मेगनीशियम पाया जाता है जो कि हड्डी में
मजबूती लाता है। हमारे शरीर को रोजाना 300-750
mg मैगनीशियम की आवश्यकता पड़ती है।इसे खाने से हमारे शरीर मे एनर्जी महसूस होती है । हड्डियों को मजबूत रखता है काजू में
प्रोटीन बहुत अधिक मात्र में पाई
जाती है , जो आप के हड्डियों को मजबूतबनाए रखने के मदद करता है
 
 
6-डायबटीज़ कम करे- आज एक आम समस्या हो रही है जो कि मधुमेह है वह बिमारी छोटी उम्र मे भी हो रही है । इस बिमारी के लिए काजू एक अच्छी चीज है
मधुमेह यानी डायबटीज़ को कम करने के लिए काजू
काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। एक नए अध्ययन
में खुलासा हुआ है कि काजू इंसुलिन की मात्रा
बढ़ाता है, जिससे मधुमेह नियंत्रित रहता है।
7-थकान भी करे दूर -काजू को ऊर्जा का एक
अच्छा स्रोत माना जाता है। इसका कोई
कुप्रभाव नहीं होता। ये अलग बात है कि इसे
कम मात्रा में खाना चाहिए। कई बार आप
बिना किसी परिश्रम के थकान महसूस करते
हैं। आपका मूड भी अपसेट हो रहा होता है,
ऐसे में दो-तीन काजू चबा लें। इससे थकान
तत्काल दूर हो जाएगी।
8-कोलेस्ट्रॉल कम करे-काजू
कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रित रखता है।
इसमें प्रोटीन अधिक होता है। यह जल्दी पच
जाता है। गुर्दे को ताकत देता है। काजू में
आयरन अधिक होता है। इसीलिए जिन
लोगों को खून की कमी हो, उन्हें इसका
नियमित सेवन करना चाहिए। काजू पाचन
शक्ति बढ़ाता है। इससे भूख ज्यादा लगती
है। आंतों में भरी गैस बाहर निकलती है।
9- दिमाग को करे तेज -काजू में
एक प्रकार का तेल होता है, जो विटामिन-
बी का खजाना है। इसी वजह से इसे तत्काल
शक्तिदायक खाद्य पदार्थ माना गया है।
वैसे, बादाम में भी विटामिन-बी और
फोलिक एसिड होता है। भूखे पेट काजू
खाकर शहद खाने से स्मरण शक्ति जल्दी
बढ़ती है।
10-स्वस्थ आंखें
काजू में ल्यूटेन और ज़ियाएक्सांथिन (एंटीऑक्सीडेंट) अच्छी
मात्रा में पाया जाता है, जो आंखो की रोशनी को कम होने से
बचाता है और मोतियाबिंद को कम करने में सहायक होता है।
 
 
11-रक्त रोग
काजू में प्रचूर मात्रा में कॉपर होता है जो रक्त रोगों से लड़ने में
मददगार होता है। कॉपर की कमी से आयरन की कमी जैसे
एनीमिया जैसे रोग हो जाते हैं और काजू में कॉपर होने की वजह से
इससे लड़ने में मदद मिलती है।
12-शारीरिक दुर्बलता दूर करने में सहायक काजू

काजू में भरपूर मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है.
जिससे शारीरिक दुर्बलता को आसानी से दूर किया
जा सकता है. रोजाना कुछ मात्रा में काजू खाने से
शारीरिक दुर्बलता दूर होने लगती है.
13-कुष्ट रोग से राहत पाने के लिए काजू का प्रयोग
– कुष्ट रोग की रोकथाम के
लिए भी काजू बहुत ही लाभदायक होता है. कुष्ट रोग
में काजू की तेल की मालिश से आराम मिलता है. कुष्ट
रोग के कारण उत्पन्न त्वचा की शून्यता को काजू का
तेल समाप्त करने में सहायक होता है.

-14-शरीर में वसा की कमी को पूरा करने में सहायक है
काजू – शरीर में वसा
की कमी होने के कारण व्यक्ति को कई समस्याएं हो
सकती हैं. इस समस्या को दूर करने के लिए काजू
फायदेमंद होता है. रोजाना कुछ मात्रा में काजू खाने
से शरीर में वसा की कमी नहीं होती तथा शरीर स्वस्थ
तथा स्फूर्तिवान बना रहता है.
15-अजीर्ण की समस्या को दूर करने के लिए काजू का
प्रयोग –
काजू से अजीर्ण की समस्या से राहत पायी जा सकती
है. इसका प्रयोग करने के लिए थोड़े काजू लें. अब इन्हे
पानी के साथ पीस कर इनकी चटनी बना लें. अब इसमें
थोड़ा नमक डालकर इसका सेवन करें. इससे अजीर्ण की
समस्या कम होने लगती है.
-लीवर और किडनी की करे रक्षा
हर दिन काजू खाना आपके लीवर और किडनी के लिए के लिए
आवश्यक है। इसे रोजाना खाने से आपका डाईजेस्टिव सिस्टम भी
अच्छा रहता है।
-एनीमिया की परेशानी को दूर करने के लिए काजू
का प्रयोग – शरीर में खून
की कमी को दूर करने के लिए काजू फायदेमंद होता है.
रोजाना काजू के सेवन से शरीर में होने वाली खून की
कमी को आसानी से दूर किया जा सकता है.

जैसा कि हम जानते हैं काजू सबसे मशहूर ड्राई फ्रूटों में एक है। यह नट काजू के
पेड़ के नीचे लटके रहते हैं। स्वाद और सेहत बनाने मे वाकई में काजू का
कोई जोड़ नहीं है, काजू का सेवन अगर रोजाना किया जाए तो इसके अनेक
फायदे हैं। थोड़े से काजू का खाने से न सिर्फ शरीर को ऊर्जा
मिलती है बल्कि कई बीमारियां भी दूर होती
है।
-इसका प्रयोग दुध के साथ करने से नपुंसक पुरुष के शरीर में
भी शक्ति प्रवाह होकर ताकत आ सकती है.
-एनर्जी का अति उत्तम साधन है अर्थात काम करते
समय यदि शरीर की बेट्री डिस्चार्ज हो जाये तो
केवल 3-4 काजू खा लेने से पुनः स्फूर्ति का संचालन
होने लगता है.
-यदि इसका नियम पूर्वक और नियंत्रित मात्रा में सेवन
किया जाये तो शरीर के लिए बहुत सी बिमारियों
को मिटा सकता है जैसे की – पाचन क्रिया को दुरुस्त
करना, रक्त की कमी वाले रोगी के लिए रक्त का
बनना, मल उत्सर्जन क्रिया को सही करना और हार्ट
अटैक की सम्भावना को कम करता है.

-बी पी रखे कंट्रोल में
इन मेवों में सोडियम बहुत ही कम और पोटैशियम हाई
मात्रा में होता है, जिससे ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता
है।
-वजन संतुलित रहे
काजू में अधिक ऊर्जा होती है और इसमें dietry fibre
की मात्रा भी अधिक होती है इसलिए इसको खाने
से शरीर का वजन संतुलित रहता है।
-एनीमिया दूर करे
काजू में मौजूद कॉपर शरीर में एंजाइम गतिविधि,
हार्मोन का उत्पादन, मस्तिष्क का कार्य आदि
संभालने में मदद करता है। कॉपर रेड ब्लड सेल्स को बढ़ा
कर एनीमिया जैसी बीमारी को दूर करता है
-काजू का तेल सफेद
दागों पर लगाने से धीरे-धीरे सफेद दाग मिट
जाते हैं। इससे ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल में रहता
है।
– पेट के कीड़े और अर्श की समस्या को नष्ट करता है।
– काजू के सेवन से वीर्य वृद्धि होने से कामशक्ति विकसित होती
है।
– काजू में मौजूद मोनो सैचुरेटड फैट दिल की बीमारियों के खतरे
को कम करता है।
– प्रोटीन से भरपूर काजू में किशमिश मिलाकर खाने से शारीरिक
दुर्बलता दूर होती है।
– कुष्ट रोग के कारण उत्पन्न त्वचा की शून्यता काजू की तेल की
मालिश से दूर होती है।
– एनीमिया के रोगी को काजू का सेवन कराने से बहुत लाभ होता
है। काजू खून की कमी को दूर करता है।
– काजू के सेवन से शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ती है क्योंकि
काजू में लौह तत्व अधिक मात्रा में होता है।
– काजू खाने से शरीर में वसा की कमी पूरी होती है। शरीर में
शक्ति, स्फूर्ति और उत्साह विकसित होता है।
-काजू को पानी में डालकर रखें। तीस मिनट बाद उसी पानी में
पीसकर सेवन करने से शारीरिक निर्बलता दूर होती है।
-काजू को पानी के साथ पीसकर नमक के साथ चटनी बनाकर सेवन
करने से अजीर्ण और अफारा की समस्या दूर होती है।
-काजू में कॉपर अधिक मात्रा में पाया जाता हैं जो
शरीर के हड्डियों और जोड़ो को लचीला बनाने में
मदद करता हैं और त्वचा और बालों को रंग प्रदान
करता हैं।
-काजू में वसा अच्छी मात्रा में पाया जाता हैं। फिर
भी ये वजन को नियंत्रित करने में मदद करते हैं, काजू
फाइबर का अच्छा स्रोत हैं।
 

 
काजू खाने के नुकसान:-
-काजू के फल के छिलकों का तेल अधिक दाहक और त्वचा पर जख्म
बना देता है।
-अधिक मात्रा में काजू के सेवन से नाक से खून निकलने की
संभावना बढ़ जाती है।
-अधिक मात्रा में काजू खाने से दस्त की विकृति हो सकती है।
दस्त के रोगी को काजू का सेवन नहीं करना चाहिए।
-गर्मी के महीने में काजू का सेवन नहीं करना चाहिए। गर्मी के
दिनो में काजू के सेवन से शरीर का तापमान बढ़ जाता है।
-नमकीन काजू खाने से ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है.
-माइग्रेन के रोगी को काजू नहीं खाना चाहिए.
हमे ज्यादा नही खाने चाहिए । ड़ाकटर से पुछ कर ही खाय धन्यवाद ।

5 COMMENTS

  1. काजू के फायदे और काजू के नुकसान के बारे में बढ़िया जानकारी शेयर की है आपने

  2. बहुत अच्छी जानकारी दी है आप ने काजू के बारे में आज कल कि लाईफ़ में लोग इन चीजों का प्रयोग कम और कई गलत चीजों का प्रयोग करते है जो कि स्वस्थ्य के लिये हानिकारक होती है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here