सचिन तेंदुलकर की जीवनी हिंदी में | सचिन तेंदुलकर के बारे में जानकारी | सचिन तेंदुलकर के पुरस्कार

भारत रत्न सचिन रमेश तेंदुलकर क्रिकेट के इतिहास में विश्व के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ों में से एक हैं। सचिन रमेश तेंदुलकर का जन्म 24 अप्रैल 1973 को मुम्बई में राजापुर के एक मराठी ब्राह्मण परिवार में हुआ था। सचिन तेंदुलकर का पूरा नाम सचिन रमेश तेंदुलकर है सचिन जी का नाम उनके पिता ने अपने प्रिय संगीतकार सचिन देव बर्मन के नाम पर रखा था। सचिन जी के पिता का नाम श्री रमेश तेंदुलकर था। सचिन जी के दो भाई(अजित तेंदुलकर और नितिन तेंदुलकर) और एक बहन श्रीमती सविताई तेंदुलकर है।

 

 

सचिन तेंदुलकर का बचपन

सचिन पढ़ने में ज्यादा अच्छे नहीं थे उनका मन क्रिकेट खेलने में लगता था। वह बचपन से ही क्रिकेट खेलने के शौक़ीन थे। सचिन तेंदुलकर जी की शिक्षा शारदाश्रम विद्यामंदिर से ग्रहण की थी और उन्होंने अपने क्रिकेट जीवन की शुरुआत रमाकांत अचरेकर के पास से की थी। उसके बाद उन्होंने एम०आर०एफ० पेस फाउंडेशन में सचिन ने गेंदबाजी के अभ्यास की पूरी कोशिश की मगर वहाँ के कोच श्री डेनिस लिली ने उन्हें अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान देने के लिए कहा था।

सन् 1988 में स्कूल के एक हौरिस शील्ड मैच के दौरान उनके साथी बल्लेबाज और उनके प्रिय मित्र विनोद काम्बली के साथ सचिन ने ऐतिहासिक 664 रनों की अविजित साझेदारी की जो कि बहुत ज्यादा लोकप्रिय है। इस धमाकेदार जोड़ी के इतने जबरदस्त प्रदर्शन के कारण दूसरी टीम का एक गेंदबाज तो रोने ही लगा और उसके बाद विरोधी टीम ने तो मैच आगे खेलने से ही मना कर दिया था।

 

 

सचिन तेंदुलकर ने वर्ल्ड कप फाइनल में कितने रन बनाये थे ?

2003 के वर्ल्ड कप फाइनल में सचिन 4 रन ही बना सके थे और वह मैकग्राथ की बॉल पर कैच आउट हो गए थे वहीँ 2011 वर्ल्ड कप फाइनल में सचिन ने 14 बॉल पर 18 रन बनाये थे और मलिंगा की बॉल पर कैच आउट हो गए थे।

 

सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट में 51 शतक किसके विरुद्ध लगाया था ?

सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट में 51 शतक नूलैंड्स क्रिकेट ग्राउंड, केप टाउन, साउथ अफ्रीका में 2 जनवरी 2011 को साउथ अफ्रीका के विरुद्ध लगाया था और यह टेस्ट मैच ड्रा रहा था।

 

सचिन तेंदुलकर ने किस क्रिकेट ग्राउंड पर 100 वां शतक पूरा किया था ?

16 मार्च, 2012 को, तेंदुलकर ने ढाका के शेरे बांग्ला राष्ट्रीय स्टेडियम(बांग्लादेश) में अपनी 100 वीं अंतर्राष्ट्रीय सेंचुरी बनाई थी। सचिन तेंदुलकर का यह शतक 138 गेंदों पर आया और उन्होंने इस पारी में 10 चौके और एक छक्का लगाया था। 99 वीं सेंचुरी के बाद सचिन तेंदुलकर को 100 वीं सेंचुरी तक पहुँचने के लिए एक साल का इंतजार करना पड़ा। हालांकि, उनके 114 रनों की यह आखिरी पारी भारत के काम न आयी और भारत को इस मैच में बांग्लादेश ने पांच विकेट से हरा दिया था। सचिन तेंदुलकर का यह शतक बांग्लादेश के खिलाफ उनका पहला वनडे शतक था।

 

सचिन तेंदुलकर के रिकार्ड्स

  • सचिन जी की सबसे बड़ी उपलब्धि अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतक लगाना जो कि अभी तक सचिन के अलावा किसी खिलाडी के नाम नहीं है।
  •  

  • सचिन जी ने अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट मुकाबलों में 18426 रन बनाये हैं जो कि पूरे विश्व में सबसे ज्यादा रन है।
  •  

  • सचिन जी एकदिवसीय(One Day International (ODI)) अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट इतिहास में दोहरा शतक जड़ने वाले पहले खिलाड़ी हैं।
  •  

  • सचिन जी के वनडे अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा 51 शतक लगाए हैं।
  •  

  • सचिन जी ने अन्तर्राष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा 49 शतक लगाए हैं।
  •  

  • सचिन जी ने अन्तर्राष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में 15921 रन बनाये हैं जो अन्तर्राष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में किसी बल्लेबाज़ के सबसे ज्यादा रन हैं।
  •  

  • सचिन जी अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे अधिक वनडे(463) और टेस्ट (200) मैच खेलने वाले एकमात्र खिलाडी हैं।
  •  

  • सचिन जी ने अन्तर्राष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट मुकाबलों में 13000 रन बनाये हैं जो कि ऐसा कारनामा करने वाले विश्व के पहले बल्लेबाज हैं।
  •  

  • सचिन जी विश्व के पहले बल्लेबाज हैं जिसने अन्तर्राष्ट्रीय वनडे क्रिकेट मुकाबलों में 16000 रन बनाये हैं।
  •  

  • सचिन जी ने वनडे अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट मुकाबलों में सबसे ज्यादा मैन ऑफ द सीरीज और सबसे ज्यादा मैन ऑफ द मैच पुरुस्कार जीते हैं।
  •  

  • सबसे ज्यादा अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट का कैरियर होने के साथ साथ सचिन जी ने अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट मुकाबलों में सबसे ज्यादा 34000 हजार बनाये हैं जो विश्व में अभी तक किसी और ने नहीं बनाये हैं।

 

 

सचिन तेंदुलकर किस जाति से हैं ?

सचिन तेंदुलकर का जन्म मुंबई में राजापुर सरस्वत ब्राह्मण परिवार में हुआ था। सचिन तेंदुलकर के साथ साथ उनके साथी क्रिकेटर(सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़) भी उन्ही की जाति यानि ब्राह्मण हैं। उनकी मां रजनी ने बीमा उद्योग में काम किया, और उनके पिता रमेश तेंदुलकर, एक मराठी उपन्यासकार, जिसे उनके पसंदीदा संगीत निर्देशक सचिन देव बर्मन के बाद तेंदुलकर नाम दिया गया। सचिन तेंदुलकर ने कभी भी अपनी जाति को दिखाया नहीं क्यों कि उनकी सोच इससे बहुत ऊपर बढ़कर है।

 

सचिन तेंदुलकर जी के पुरस्कार और सम्मान की सूची

  • सन् 1994 में भारत सरकार द्वारा सचिन जी को अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया था
  • सन् 1997 और 1998 में सचिन को राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया था
  • सन् 1997 में साल के विज्डन क्रिकेटर का सम्मान दिया गया था
  • सन् 1999 में सचिन जी को पद्म श्री भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से सम्मानित किया गया था
  • सन् 2001 में सचिन जी को महाराष्ट्र राज्य के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया था
  • सन् 2003 में सचिन जी को क्रिकेट विश्व कप के प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का अवार्ड मिला था
  • सन् 2008 में सचिन जी को भारत का दूसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया था

 

सचिन तेंदुलकर ने कुल कितने चौके और छक्के लगाए हैं ?

सचिन तेंदुलकर ने एकदिवसीय क्रिकेट में 2016 चौके और 195 छक्के लगाए हैं वहीँ टेस्ट क्रिकेट में 2058 चौके और 69 छक्के लगाए हैं। T20 क्रिकेट में उन्होंने एक मैच ही खेला था जिसमे उन्होंने 2 चौके लगाए थे। आईपीएल खेलते हुए सचिन ने 295 चौके और 29 छक्के लगाए हैं।

 

सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट से सन्यास कब लिया ?

2013 में सचिन तेंदुलकर ने मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में भारत के लिए अपना अंतिम मैच खेला। भारत वेस्टइंडीज के खिलाफ दो टेस्ट सीरीज़ खेल रहा था, जिसमें से दूसरा मुंबई में आयोजित किया गया था। तेंदुलकर ने 24 साल से अधिक के लिए क्रिकेट प्रशंसकों का मनोरंजन किया था और यह कोई आश्चर्य की बात नहीं थी कि लिटिल मास्टर ने यह आखिरी बार खेला था जब हजारों लोग वानखेड़े आए थे। “सचिन, सचिन” के मंत्रों को मैच के तीन दिनों तक वानखेड़े के अंदर सुना जा सकता था। सचिन की एक झलक पाने के लिए स्टेडियम के बाहर भी लंबी कतारें लगी हुई थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here