आलू (Potato) क्या है ? आलू के फायदे और नुकसान | आलू के औषधीय गुण

आलू एक बहुत ही लोकप्रिय सब्जी है। आलू गेहूं, धान की तरह सबसे ज्यादा उगाई जाने वाली फसल है। भारत में यह सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश में उगाया जाता है। आलू जमीन के नीचे पैदा होता है। विश्व में सबसे ज्यादा आलू का उत्पादन चीन और रूस में होता है और इसके उत्पादन में भारत तीसरे स्थान पर आता है। आलू को अंग्रेजी में Potato कहते हैं या Potato का अर्थ आलू होता है।

 

आलू (Potato) क्या है ?

आलू बहुत पसंद कि जाने वाली सब्जी है। वज्ञानिकों का मानना है कि आलू आज से लगभग 7000 साल पहले से उगाया जा रहा है। आलू बहुत सस्ता पढता है तो आज भी बहुत से लोग आलू पर निर्भर हैं। भारत में यह सब से लोकप्रिय सब्जी है। आलू भारत में ज़्यादा लोगों की पसंद है लेकिन कई लोग इसे फैट बढ़ने वाली समझकर खाने से परहेज करते हैं। लेकिन आलू उपयोगी है। आलू में विटामिन सी, आयरन, कैल्शियम, मैंगनीज, फास्फोरस होता है जो हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है।

 

 

आलू के फायदे

आलू ऊर्जा और पोषक तत्वों से भरा होता है। आलू में प्रोटीन , कार्बोहाइड्रेट , पोटेशियम, कैल्शियम , आयरन , जिंक तथा फास्फोरस कई प्रकार के विटामिन, खनिज पाए जाते हैं। और आलू छिलके सहित खाना ज्यादा लाभदायक होता है। आलू में 70-80% मात्रा पानी की होती है।

  1. आलू हृदय के लिए उपयोगी होता है
  2. आलू हमारे आंतरिक अंगों को फायदा पहुंचाते हैं। विटामिन और मिनरल भरपूरआलू में केरोतेनौड्स नामक तत्त्व होता है, जो हमारे हृदय के लिए बहुत फायदेमंद साबित होता है।

  3. आलू पथरी के रोगियों के लिए फायदेमंद होता है
  4. पथरी के रोगियों को आलू का सेवन करना चाहिए आलू आपको पथरी में फायदा करता है। और आलू पथरी की समस्या को जल्दी खत्म करने में कारगर होता है। पथरी के मरीज़ों को आलू का प्रतिदिन सेवन करना चाहिए।

  5. आलू शरीर में स्टार्च की कमी को पूरा करता है
  6. आलू में स्टार्च की मात्रा अधिक होती है। इसलिए आलू पाचन को ठीक रखते हैं। उबला हुए आलू में ज्यादा स्टार्च होता है इसलिए आलू खाने में काफी हल्का और पचाने में बहुत आसान होता है जिससे शरीर को ऊर्जा मिलती है।

  7. आलू गठिया में फायदेमंद होता है
  8. आलू में विटामिन, कैल्शियम और मैग्नीशियम होते हैं जो गठिया के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

 

आलू के नुकसान

  • आलू खाने से वजन बढ़ जाता है। आलू का जब आप ज्यादा मात्रा में सेवन करने लगते है तो आपका वजन बढ़ने लग जाता है, उबले हुए आलू का सेवन करने से आपका वजन नहीं बढ़ता है। आपका वजन आलू को फ्राई करके और आलू के परांठे या दुसरे चटपटे तरीके से आलू को खाने से वजन बढ़ता है इसलिए आपको आलू के ज्यादा सेवन से बचना चाहिए।
  • छिला हुआ आलू बल्ड सुगर को प्रभावित करता है। आलू में हाई ग्लायइसेमिक इंडेक्स् होता है। हाई ग्ला इसेमिक इंडेक्सि बल्ड सुगर और इंसुलिन को बढ़ा देता है। आलू के चिप्स और फ्रेंच फ्राइज़ में यह ज्यादा होता है इसलिए अगर आपको डाईबेटिस की बीमारी है तो आप इन दोनों चीज़ों से दूर ही रहें।

 

आलू सबसे पहले किस देश में आया था ?

वैज्ञानिकों द्वारा सबसे पहली आलू की पैदाइश दक्षिण अमरीका के पेरू में बताई जाती है, जहाँ तकरीबन 10000 वर्ष पूर्व से इंका इन्डियन इस कन्द को उगाते थे, १५वीं सदी में जब स्पेन ने पेरू पर हमला किया और वहां रहने लगे तो उनका आलू सब्ज़ी से परिचय हुआ तभी से आलू का पता चला उसके बाद यह यूरोप पहुंचा और उसके बाद अफ्रीका और एशिया पहुंचा भारत में आलू सत्रवहीं सदी में पुर्तगालियों द्वारा भारत लाया गया था।

 

हरा आलू है नुकसानदायक

आलू पर हरापर आलू पर धूप पड़ने के कारण हो जाता है ये हरा रंग सोलेनिन नामक जहरीले प्रदार्थ के कारण होता है। इस जेहरीले प्रदार्थ की वजह से आलू खाने से सिर दर्द या पेटदर्द की शिकायत हो सकती है। इसलिए जिस आलू में हरापन हो उस आलू को नहीं लेना चाहिये या अगर गलती से हरा आलू आ जाये तो उसे काटकर अलग कर देना चाहिये।

 

आलू का रस कैसे बनाते हैं ?

आलू का रस कच्चे आलू से बनता है। आलू के रस में बहुत सारे पोषक तत्व होते हैं, जिनमें विटामिन बी और विटामिन सी, पोटेशियम, कैल्शियम, लोहा, फॉस्फोरस और तांबा शामिल हैं। आलू का रस पोषक तत्वों से भरा होता है, यह शरीर के लिए बहुत लाभ करता है।

कच्चे आलू का रस तैयार करना काफी आसान है। इसके लिए आपको सबसे पहले आलू को अच्छी तरह से धोना है और अगर आलू पर कोई अंकुरित और हरे रंग के धब्बे हों तो उसे अच्छे से साफ कर लें। उसके बाद आलू को छीलें और उन्हें मिक्स करने वाली मशीन(Juicer) में कट कर दें और फिर उसको एक हलके कपड़े पर रखो और उस कपडे को दबाकर उसका रस को निकाल लें। इस रस को ज्यादा समय तक नहीं रखना चाहिए इसे आप थोड़ी देर रेफ्रिजरेटर में भी ठंडा कर सकते हैं और फिर इसे पी सकते हैं।

 

आलू में कोनसे पोषक तत्व होते हैं ?

100 ग्राम आलू में:

  • 87 कैलोरी होती है
  • 77 % पानी होता है
  • 0.1 ग्राम फैट होता है
  • 1.9 ग्राम प्रोटीन होता है
  • 20.1 ग्राम कार्बोहायड्रेट होता है
  • 0.9 ग्राम शुगर होती है
  • 1.8 ग्राम फाइबर होता है
  • 0.03 ग्राम सैचुरेटेड होते हैं
  • 0.00 ग्राम मोनौंसतुरटेड होते हैं
  • 0.04 पॉलीअनसेचुरेटेड होते हैं
  • 0.01 ग्राम ओमेगा- 3 होता है
  • 0.03 ग्राम ओमेगा- 6 होता है

 

कोनसा आलू सबसे उत्तम पैदावार देता है ?

आलू की कुफरी लीमा प्रजाति आलू की फसल बोने वाले किसानों के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी है। वैज्ञानिकों के मुताबिक यह फसल कम समय में तैयार होती है और इस आलू की रोग प्रतिरोधक क्षमता ज्यादा होती है, जो किसानों के लिए बहुत लाभदायक साबित होगी। काफी शोध के बाद यह नई प्रजाति तैयार की गई है। इस प्रजाति को भारत सरकार ने भी सहमति दे दी है। यह फसल कम समय में तैयार होने वाली आलू की प्रजाति है इस फसल का आकार अच्छा होता है दूसरी प्रजातिओं की अपेक्षा किसानों के लिए यह फसल काफी लाभकारी होगी। यह प्रजाति मैदानी क्षे़त्र के मौसम के लिए बहुत अनुकूल होती है। वैज्ञानिक किसान हित के लिए कई नई प्रजातियों का विकास कर रहे हैं।

 

आलू की सबसे अच्छी किस्म कोनसी है ?

Russets आलू की सबसे अच्छी किस्म है Russets हल्के कट किए हुए आलू के लिए अच्छे होते हैं। यह कुरकुरा और बेकिंग के लिए पसंद किये जाने वालेआलू हैं। चिप्स बनाने के लिए इन्ही आलुओं को उपयोग में लाया जाता है। “फ्राइज़” बनाने के लिए इसी आलू को किया जाता है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here