नीम (Neem) क्या है ? नीम के फायदे और नुकसान | नीम के औषधीय गुण

नीम भारत पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल, म्यानमार (बर्मा), थाईलैंड, इंडोनेशिया, श्रीलंका आदि देशों में पाया जाता रहा है। पर नीम भारतीय मूल का एक पूर्ण पतझड़ वृक्ष माना जाता है। नीम का वानस्पतिक नाम ‘Melia azadirachta और Azadiracta Indica’ है। नीम एक जल्दी बढ़ने वाला पतझड़ पेड़ है, जो लगभग 50-65 फुट की ऊंचाई तक का हो सकता है और कई बार यह इससे भी बहुत ज्यादा ऊंचा हो सकता है। ज्यादा सूखे में नीम सभी पत्तियां झड़ जाती हैं।

 

 

नीम के फायदे

नीम को कम मात्रा में खाने से इसके बहुत से फायदे होते हैं आईये इनके बारे में जानते हैं।

  1. कब्ज में नीम फायदेमंद होता है
  2. नीम का सेवन करने से पेट में जलन की समस्या नहीं होती है जो आपको कब्ज, मरोड़ जैसी बीमारियों से दूर रखती है। इसके अलावा यह पेट के अच्छे बैक्टीरिया को सुरक्षित रखने का काम करती है।

  3. नीम कैंसर से बचाता है
  4. नीम में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो शरीर में कैंसर बनने से रोकता है। नीम में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट कैंसर से शरीर का बचाव करता है और साथ ही यह दिल की बीमारियों के खतरे को भी कम करता है।

  5. नीम डायबिटीज के रोगियों के लिए उपयोगी है
  6. नीम का सेवन करने से शरीर में इंसुलिन का स्तर बढ़ता है, जिससे डायबिटीज की समस्या नहीं होती है।नीम में कुछ ऐसे तत्त्व होते हैं जो शरीर में इंसुलिन का लेवल बढ़ाते हैं।

  7. नीम बैक्टीरिया से लड़ता है
  8. हमारे शरीर में बहुत सारे बैक्टीरिया होते हैं, उनमे से बहुत सारे बैक्टीरिया अच्छे होते हैं पर कुछ बैक्टीरिया ऐसे भी होते हैं जो हमारे शरीर के लिए हानिकारक होते हैं। लेकिन नीम का सेवन करने से ये हानिकारक बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं।

  9. नीम दांतों के लिए बहुत फायदेमंद है
  10. आपने देखा होगा कि बहुत से लोग नीम की डंडी से दातुन करते हैं। बहुत से लोगों को ऐसा करना अच्छा नहीं लगता पर आपको यह नहीं पता कि नीम की डंडी से दातुन करने से दांतों में सड़न, मसूड़ों में सूजन खत्म हो जाती है और दांत मजबूत बनते हैं क्यूंकि नीम दांतों में होने वाले बैक्टीरिया को ख़तम कर देता है।

  11. नीम शुगर के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है
  12. नीम की पत्तियां ग्लाइकोसाइड्स और एंटी वायरल गुणों से भरपूर होती हैं, जो आपका ब्लड शुगर लेवल संतुलित करने में आपकी मदद करती हैं। अगर आप शुगर के मरीज़ हैं तो आप रोज नीम का जूस पी सकते हैं या फिर केवल नीम की पत्तियां भी चबा सकते हैं। लेकिन याद रहे इसका ज्यादा इस्तेमाल न करें और इसके इस्तेमाल से पहले डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

  13. नीम मच्छर भगाने के काम आता है
  14. आज कल प्रदुषण की वजह से मच्छरों की संख्या बढ़ रही है जिसके कारण बहुत सी बीमारियां होती हैं। गर्मियों के मौसम में तो हद ही हो जाती है जिसमे डेंगू, मलेरिया जैसी वायरल बीमारियां लोगों में फैलने लगती हैं। इससे बचाव के लिए आपको नीम की पत्तियों के धुंए से मच्छर भगा सकते हैं और इसके धुंए से मच्छर मर भी जाते हैं। इसके धुंए को आप ज्यादा न सूंघे इससे आपको नुकसान हो सकता है मच्छरों को भागने का सबसे आसान तरीका है की आप घर में नीम का पेड़ लगाएं जिससे आप मच्छरों से मुक्त हो जायेंगे।

 

नीम के पत्ते कड़वे क्यों होते हैं ?

नीम के पत्ते या छाल को कड़वा स्वाद के कारण एक प्रभावी पिट्टा पाकिफिएर माना जाता है। नीम के पत्तों में मौजूद रासायनिक घटक निंबिडिन, निंबिन नीम के पत्तों की कड़वाहट का मुख्य कारण होता है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here