भिंडी (Okra) क्या है ? भिंडी के फायदे और नुकसान | भिंडी के घरेलु नुस्खे

0
1127

भिंडी (Okra) क्या है ?

भिंडी का पौधा फूलदार होता है और इसकी बीज फली के कारण सबसे अधिक मूल्यवान होता है। भिंडी एक सब्जी है। इसे भारत में बहुत पसंद किया जाता है इसका पेड़ 1 मीटर लम्बा होता है बनारस में भिंडी को ‘राम तरोई’ और छत्तीसगढ में इसे ‘रामकलीय’ और बंगला में स्वनाम ख्यात फलशाक, फारसी में ‘वामिया’, मराठी में ‘भेंडे’, गुजराती में ‘भींडा’, कहा जाता है। भिंडी का नाम भिंडी ही है इसे अंग्रेजी में ‘Okra’ कहा जाता है

 

 

भिंडी का वैज्ञानिक नाम क्या है ?

पीली भिंडी और साधारण भिंडी का वैज्ञानिक नाम एबेलमोस्चस एस्कुलेंटस(Abelmoschus Esculentus) है।

 

 

भिंडी के फायदे

  1. भिंडी रक्तचाप(ब्लड प्रेशर) को कम करती है
  2. जिन लोगो का ब्लड प्रेशर हाई रहता है उनके लिए भिंडी अच्छी होती है, भिंडी पोटेशियम समेत विटामिन और खनिजों का एक अच्छा स्रोत है, जो मानव स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छी है। शरीर में उचित द्रव संतुलन को बनाए रखने के लिए पोटेशियम जरूरी होता है क्योंकि यह सोडियम को संतुलित करता है। इसके अलावा, पोटेशियम रक्त वाहिकाओं और धमनियों को आराम पहुंचाने में मदद करता है, जो रक्तचाप को कम करता है।

  3. भिंडी कैंसर के रोगियों के लिए फायदेमंद होती है
  4. भिंडी कैंसर को दूर भगाने में कारगर होती है। कोलन कैंसर को दूर करने में भिंडी बहुत फायदेमंद है। यह आंतों में मौजूद विषैले प्रदार्थों को बाहर निकालने में मदद करती है, जिससे हमारी आंतें बिलकुल स्वस्थ रहती हैं और बेहतर तरीके से कार्य करती हैं।

  5. भिंडी दिल के स्वास्थ्य के लिए अच्छी होती है
  6. भिंडी आपके दिल को भी स्वस्थ रखती है। भिंडी में पैक्टिन मौजूद होता है जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। भिंडी रक्त में कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करती है जिससे दिल से सम्भंधित रोग का खतरा कम होता है।

  7. भिंडी मधुमेह(डायबिटीज) में बहुत फायदेमंद होती है
  8. भिंडी में यूगेनॉल पाया जाता है जो मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यह शरीर में शर्करा के स्तर को बढ़ने से रोकता है, जिससे मधुमेह का खतरा कम होता है। भिंडी के बीज और छील में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट शक्ति होती है, जो विशेष रूप से टाइप 2 मधुमेह वाले लोगों की सहायता करती है। भिंडी का पानी रक्त ग्लूकोज के स्तर को सही रखने के लिए फायदेमंद माना जाता है।

  9. भिंडी पाचन तंत्र को सही रखती है
  10. भिंडी में फाइबर भरपूर मात्रा में होता है। इसमें मौजूद श्लेष्मा फाइबर पाचन तंत्र के लिए बेहद फायदेमंद होता है। इससे कब्ज, और गैस जैसी समस्याएं नहीं होती हैं। भिंडी दस्त को रोकने में भी मदद करती है, भिंडी की फाइबर सामग्री अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल को साफ़ करने में मदद कर सकती है और उस दर को नियंत्रित करती है जिस पर चीनी को शरीर में अवशोषित किया जाता है।

  11. भिंडी प्रतिरक्षा प्रणाली(इम्यून सिस्टम) बूस्ट करती है
  12. भिंडी के विभिन्न प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट मुक्त कणों से लड़ने के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं यह शरीर की प्रतिरक्षा को बढ़ावा दिया जाता है। भिंडी में मौजूद तत्त्व प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर करने वाले कणों का मुकाबला करते हैं। जिससे हम कई बीमारियों जैसे खांसी, ठंड जैसी समस्याएं से दूर रहते हैं।

 

भिंडी लेते समय किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए ?

आपको भिंडी चमकदार रंगीन फली की तलाश करनी चाहिए। भिंडी 4 इंच से अधिक लम्बी नहीं होनी चाहिए। आपको सुस्त, कुचल, मुलायम, या दोषपूर्ण फली न लें। ताजा ओकरा एक पतला, हरा, ट्यूब जैसी सब्जी है, इस प्रकार महिला उंगलियों का संदर्भ है। भिंडी वास्तव में छोटे सफेद बीज से भरा एक फली है। जब आप इसे खरीद रहे हों तो तमकती त्वचा के साथ उज्ज्वल हरे भिंडी की तलाश करें। यह बहुत ज्यादा लोकप्रिय सब्जी नहीं है और बहुत से सब्ज़ी बेचने वाले इसे नहीं रखते हैं। भिंडी का सीजन मई से सितंबर में होता है आपको इसी समय में भिंडी का सेवन करना चाहिए।

  • सब्जियों को ताजा होने पर सबसे अच्छा स्वाद मिलता है। तो आपको भिंडी चमकदार हरे रंग में लेनी है और सुस्त या काले रंग की नहीं लेनी है।
  •  

  • अच्छी भिंडी के लिए आपको थोड़ा प्रयास करना होगा क्योंकि जीवन में कुछ भी आसान नहीं होता है। भिंडी लेते समय इसे उंगलियों से धीरे-धीरे दबाएं और उन्हें थोड़ा मुलायम होना चाहिए पर ज्यादा मुलायम नहीं होना चाहिए। यदि वह कड़ी हुई भिंडी है तो वह पुरानी होती है जो अच्छी तरह से नहीं पकती है।
  •  

  • भिंडी विभिन्न आकारों में आती है कुछ भिंडी लम्बी और पतली होती हैं, और कुछ छोटी और कठोर होती हैं। पतली भिंडी सबसे अच्छी होती है अच्छी भिंडी के लिए छोटी किस्म का उपयोग करें क्योंकि यह वास्तव में तेजी से पकती है और बहुत स्वादिष्ट होती है।
  •  

  • जब आप भिंडी चुनते हैं, तो सुनिश्चित करें कि इसमें दोष या क्षतिग्रस्त धब्बे नहीं हैं। कभी-कभी, यदि आप सावधान नहीं होते हैं, तो आप भिंडी काटते समय अंदर छोटे काले कीड़े नहीं देख पाते हैं।

 

भिंडी में कोनसे पोषक तत्व होते हैं ?

100 ग्राम भिंडी में:

  • 33 कैलोरी होती है
  • 1.93 ग्राम प्रोटीन होता है
  • 0.19 ग्राम फैट होता है
  • 7.45 ग्राम कार्बोहायड्रेट होता है
  • 3.2 ग्राम फाइबर होता है
  • 1.48 ग्राम शुगर होती है
  • 31.3 मिलीग्राम विटामिन के होता है
  • 299 मिलीग्राम पोटैशियम होता है
  • 7 मिलीग्राम सोडियम होता है
  • 23 मिलीग्राम विटामिन सी होता है
  • 0.2 मिलीग्राम थायमिन होता है
  • 57 मिलीग्राम मैग्नीशियम होता है
  • 82 मिलीग्राम कैल्शियम होता है
  • 0.215 मिलीग्राम विटामिन बी-6 होता है
  • 60 माइक्रोग्राम फोलेट होता है
  • 36 माइक्रोग्राम विटामिन ए होता है

 

भिंडी कैसे बनायें ?

भिन्डी की सब्जी बनाना बहुत ही आसान होता है भिन्डी की सब्ज़ी बहुत कम समय में बन जाने वाली सब्जी है। भिन्डी की सब्जी बहुत ही स्वादिष्ट होती है और इसे ज्यादातर लोग पूरी , रोटी के साथ कहते हैं। भिन्डी की सब्जी को लोग अलग अलग तरीको से बनाते हैं जैसे भरवाँ भिन्डी , टमाटर की भिन्डी, भिन्डी आलू और भी कई प्रकार की भिंडी बनाई जाती है। तो आईये आज मैं आपको भिन्डी बनाने का आसान तरीका बताता हूँ जिसे आप कभी भी सिर्फ 10-15 मिनट में बना सकते हैं। आईये शुरुआत करते हैं।

सादा भिंडी बनाने का सामान:

  • भिन्डी- 250 ग्राम
  • 1 मध्यम आकर का प्याज
  • 3 बारीक कटी हुई हरी मिर्च
  • मध्यम आकर का आधा चम्मच हल्दी पाउडर
  • लाल मिर्च पाउडर आप अपने अनुसार डाल सकते हैं
  • गरम मसाला 1/6 चम्मच
  • जीरा आधा चम्मच
  • नमक(Salt)- स्वादानुसार
  • तेल (Mustard Oil)- 2 -3 चम्मच
  • नीबू का रस एक चम्मच

सादा भिंडी बनाने की विधि:

भिन्डी की सब्जी बनाने के लिए सबसे पहले आपको भिन्डी को अच्छे से धोना है। अब आपको भिन्डी को छोटे छोटे गोल गोल टुकड़ो में काटना है। अब आपने प्याज़ को छोटा छोटा कट करना है अब एक कढ़ाही लें और उसमे 2 बड़े चम्मच तेल डालकर गैस पर गर्म करने के लिए रखें। जब तेल थोड़ा गरम हो जाये तो उसमे जीरा डाल दें। अब जब जीरा अच्छे से भुन जाए और हल्का सा लाल हो जाये तब प्याज और हरी मिर्च को डालकर तब तक भूनें जब तक वह हल्का लाल न हो जाये। अब इसमे हल्दी पाउडर डालकर इसे थोड़ा चलाएं फिर कटी हुई भिन्डी डालकर अच्छे से मिला दें। और ऊपर से नमक डालकर भिन्डी को करीब 4 -5 मिनट के लिए ढक कर पकने दें। अब आप ढक्कन को खोलकर भिन्डी को देख लें अगर भिन्डी हलकी गल गयी हो तो गर्म मसाला, और नीबू का रस डालकर अच्छे से मिलाते हुए 2 -3 मिनट तक और ढक्कन रख दें। अब गैस को बंद कर दें। अब आपकी स्वादिष्ट भिन्डी की सब्जी बनकर तैयार हो गयी है। अब आप भिन्डी की सब्जी को गरमा गर्म पूरी, रोटी के साथ खा सकते हैं।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here