Telescope क्या है ? Telescope की पूरी जानकारी हिंदी में | Telescope in Hindi

0
1522

यह दुनिया काफी बड़ी है लेकिन टेक्नोलॉजी ने इसे बेहद ही छोटा बना दिया है। हम सब जानते है की आज हम कोई भी चीज कितनी ही दूर क्यों न हो, उसे आसानी से ही देख सकते है, जिसका श्रेय टेक्नोलॉजी को ही जाता है। अगर हमें कुछ दूर की वस्तु को साफ व पास करके देखना है तो हम लेंस आदि का प्रयोग कर सकते है लेकिन वही अगर हम ज्यादा आगे बढ़े और काफी दूर की वस्तु को देखना चाहे तो फिर सबसे बेस्ट ऑप्शन टेलिस्कोप है। लेकिन की आप जानते है की ‘Telescope क्या है और यह कैसे काम करता है’? इस पोस्ट में हम इसी के बारे में जानेंगे।
 

 

टेलीस्कोप क्या है ? – What is Telescope in Hindi

जैसा की हम पहले ही जान चुके है की टेलिस्कोप क्या है लेकिन फिर भी सरल भाषा में कहा जाए तो टेलिस्कोप एक प्रकार का ऐसा Tool होता है जिसके माध्यम से हम किसी भी फर की वस्तु को आसानी से देख सकते हैं। यह रिमोट ऑब्जेक्ट्स के observation के लिए डिजाइन किये जाते है।

रेफ्रैक्टर्स(अपवर्तक) ऑप्टिकल टेलीस्कोप का सबसे पुराना प्रकार थे। नीदरलैंड में 1608 में पहली व्यावहारिक अपवर्तक दूरबीन दिखाई दी, और उन्हें तीन लोगों, हंस लिपर्सहे और ज़चारीस जांसेन, मिडलबर्ग ने बनाया था। मई 1609 के महीने में वेनिस में होने वाले गैलीलियो गैलीलि ने आविष्कार के बारे में सुना और अपने स्वयं के एक संस्करण का निर्माण किया। गैलीलियो ने फिर जनता के लिए अपने आविष्कार के ब्योरे को बताया, और उपकरण को स्वयं को पूर्ण परिषद में बैठे डोगे लियोनार्डो डोनाटो को प्रस्तुत किया था।

अलग अलग तरीके के चीजो को देखने के लिए अलग अलग तरीके के टेलिस्कोप काम में आते है। टेलिस्कोप को हिंदी में ‘दूरबीन’ और ‘दूरदर्शी’ भी कहते हैं। कई सारे दूरबीन तो मार्किट में 20-50 रुपये के ही मिल जाते हौ और कई सारो की किन्त करोड़ो में भी होती है जो की बड़े बड़े वैज्ञानिकों के पास होते हैं। यह भारी भरकम अंतर इनके लेंस के कारण होता है और साथ में इनकी क्वालिटी भी इनके अंतर को बढाती है।

टेलिस्कोप एक ऐसा साधन है जो दूर स्थित ऑब्जेक्ट्स द्वारा emit की गयी radiation collect करता है और उसे analyze करता है। Telescope का नाम सुनते ही सबसे पहले Optical Telescope का नाम दिमाग में आता है क्युकी यह ही आम टेलिस्कोप होते है। यह दूर स्थित किसी भी ऑब्जेक्ट को Lenses और Mirrors के द्वारा Magnify करता है और फिर उन्हें दर्शको को clearly दिखाता है।

व्यापक रूप से तो दूरबीन radio waves से लेकर gamma rays तक Electromagnetic spectrum की most frequencies को operate कर सकते हैं। वैसे दूरबीन कई प्रकार के होते है लेकिन सभी दूरबीनों में एक विशेषता सामान्य है जो यह है की ‘दूरबीन के द्वारा दूर की वस्तुए करीब दिखती है’।
 

 

दुनिया का सबसे बड़ा टेलिस्कोप कोनसा है ?

The Gran Telescopio Canarias पृथ्वी पर अब तक का सबसे बड़ा टेलीस्कोप है यह 34 फीट ( 409 इंच) का है। यह स्पेन के कैनरी द्वीप समूह में है। इस टेलीस्कोप के डिजाइन और विकास ने 100 से अधिक कंपनियों से 1,000 से अधिक लोगों को पूरा करने के लिए एक दशक से अधिक समय लिया। इस दूरबीन के प्रमुख योगदानकर्ता Instituto de Astrofisica de Canarías, फ्लोरिडा विश्वविद्यालय, और Universidad Nacional Autónoma de México थे। स्पेन के राजा जुआन कार्लोस प्रथम ने 24 जुलाई, 2009 को आधिकारिक तौर पर इस टेलीस्कोप का उद्घाटन किया।
 

टेलिस्कोप कैसे काम करता है ? How Telescope Works ?

एक Telescope एक Amazing Tool है जिसमें दूर रखे objects को या दूर स्थित objects को बहुत करीब दिखाने की क्षमता है। अगर आपकी सीध में किलोमीटर दूर कोई वस्तु रखी है तप भी आप उसको सामान्य आँखों से नहीं देख सकते। क्यों ? क्यूंकि आपकी आँखों के रेटिना की क्षमता इतनी नहीं होती।

वही अब आप सोचो की आपके पास आपकी आखो में बहुत ही तगड़ा लेंस है और फिओर ऊपर से आपकी आखे भी बहुत बड़ी है यानि की आपकी आखो की स्क्रीन भी बहुत बड़ी है से उस वस्तु को देख पाएंगे।

बस इसी प्रकट Telescope भी काम करता है। दरअसल Telescope के अंदर एक क़ाफी उन्नत तकनीक का लेंस लगा होता है जो कि शायद उसकी कीमत पर भी निर्धारित करता है। Telescope में एक नहीं बल्कि 2 Types के लेंस होते है। पहला Eyepiece Lens होता है जो की secondary lens होता है और वही जो पहला यानि कि Primary lens होता है वो objective lens होता है जो की objects को कवर करता है।

तो उम्मीद करते है की आपको यह पोस्ट ‘Telescope क्या है ? Telescope की पूरी जानकारी हिंदी में | Telescope in Hindi’ पसंद आया होगा। इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूले।
 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here