Internet क्या है ? Internet कैसे काम करता है ? Internet की पूरी जानकारी हिंदी में

यह दुनिया काफी बड़ी है जिसको नापना एक आम इंसान के लिए बेहद मुश्किल काम है। अगर आप चाहो तो आज टेक्नोलॉजी के माध्यम से आप से लाखो किलोमीटर दूर बैठे व्यक्ति से आसानी से संपर्क कर सकते हो जबकि अगर इस दुनिया में टेक्नोलॉजी नही होती तो ऐसा होना तो क्या सोचना भी मुश्किल था। आईये जानते हैं कि Internet क्या है ?

अगर आज आप एक जगह बैठे बैठे किसी दूसरी जगह के व्यक्ति का चेहरा देखते हुए बात कर सकते हो और आपकी मन पसंदीदा चीजो को घर पर बैठे ही मंगा सकते हो चाहे वह किसी और देश की हो, तो इसका कारण केवल इंटरनेट ही है। एक बार सोचिए की अगर यह नही होता तो आप क्या करते और कैसे करते? Internet अब लोगो के लिए खाने और पानी से भी ज्यादा जरूरी हो चुका है क्योंकि अब युवा एक दिन बिना कहना और पानी के रह सकते है लेकिन इंटरनेट के नही रह सकते।

इंटरनेट का उपयोग आप सभी करते होंगे लेकिन काफी कम होंगे जो की इसके बारे में जानते होंगे। तो आज के इस पोस्ट में मैं आपको इंटरनेट के बारे में सब कुछ बताऊंगा और आप जानेंगे की ‘इंटरनेट क्या है’, ‘इंटरनेट कैसे काम करता है’, ‘इंटरनेट के फायदे और नुकसान क्या है’, ‘इंटरनेट का मालिक कौन है’, ‘इंटरनेट का क्या प्रभाव पड़ता है’। तो चलिए बिना देरी किये शुरू करते है।
 

 

इंटरनेट क्या है? What is Internet (Explained in Hindi)

सबसे पहले मैं आपको यह बात दे हु की Internet को हिंदी में क्या बोलते है? तो Internet को हिंदी में अंतर्जाल बोला जाता है। Internet को आप हिंदी में भी चला सकते हैं इसके लिए आपको गूगल में हिंदी भाषा को सेलेक्ट करना होगा। यानी कि यह एक प्रकार का जाल है। आप Internet का अर्थ विश्व जाल से भी ले सकते हो। जिसका मतोब होगा की ‘एक ऐसा जाल जिसके दारा पूरा विश्व घिरा हुआ हो’। यह लाइन बिल्कुल भी गलत नही है क्योंकि हम यह कह सकते है की Internet पर हमे पूरे विश्व की जानकारी मिओ जाती है चाहे वह किसी सेलेब्रिटी की हो या फिर किसी पौधे की, यहाँ हमे सभी प्रकार की जानकारी मिलती है।

अब अगर इसकी थोड़ी से टेक्निकल परिभाषा देखी जाए तो वह यह होगी की ‘Internet दुनिया भर में Devices को जोड़ने के लिए Internet Protocol Suite (TCP/IP) का उपयोग करने वाले Interconnected Computer Network का Global System है। अब इसे थोड़ा से सरल भाषा में देखा जाए तो Internet एक ऐसा सिस्टम है जिसके जरिये विश्व के सभी डिवाइज एक दूसरे से कनेक्टेड रह सकते है।

यह Networks का भी एक Network है जिसमें Private, Public, Academic, Business और Local Networks के Government Networks शामिल हैं, जो Electrical, Wireless और Optical Networking Technologies की एक Wide Range से जुड़ा हुआ है।

Internet में Information Resources and Services की एक Wide Range है, जैसे की Inter-linked Hypertext Documents और World Wide Web (WWW), Electronic Mail, Telephony और File Sharing के Application आदी। यह सब इसे एक विस्तृत जाल बनाने में मदद करती है जो की Internet कहोणे में मदद करती है।

तो अब आप यह जान चुके है की इंटरनेट क्या है, तो अब हमे यह जानना है की इंटरनेट कैसे काम करता है, Let’ Start It..
 

 

इंटरनेट कैसे काम करता है? How Internet Works?

Internet के काम करने की प्रक्रिया बेहद ही शानदार है। इंटरनेट एक नही बल्कि कई अलग अलग तरीको से काम करता है क्योंकि इंटरनेट के कई भाग है। अब मैं यह इसलिए कह रहा हु क्योंकि आपको YouTube इस्तेमाल करने के लिए अलग तरीका इस्तेमाल करना पड़ता है और Facebook इस्तेमाल करने के लिए अलग तरीका इस्तेमाल करना पड़ता है।

फिर भी मैं आपको समझाने की कोशिश करता हूँ

दरअसल इंटरनेट का उपयोग करके आप अपने Browser पर Facebook.com टाइप करते हो और फिर उसके बाद आप फेसबुक पर पहुच जाते हो। आप जैसे की फेसबुक की URL को टाइप करते है वैसे वी वो URL आपको फेसबुक के सर्वर तक पहुचाती है और आप फेसबुक से कनेक्ट हो पाते हो। यही प्रोसेस पूरे Internet के साथ होती है।
 

 

इंटरनेट का मालिक कौन है? Who is the Owner of Internet

अगर आप यह जानना चाहते हो की इंटरनेट का मालिक कौन है? तो आपको जवाब सुनकर हैरानी होगी और जवाब है ‘आप’। जी हा, आप ही इंटरनेट के मालिक है और आप ही नही बल्कि मैं भी इंटरनेट का मालिक हु और हम दोनों ही नही बल्कि जितने भी लोग इसका उपयोग करते है वही उसके मालिक है। यानी की इंटरनेट किसी की संपत्ति नही है।

इंटरनेट एक सार्वजनिक चीज है जिसका उपयोग कोई भी कर सकता है और इसका कोई मालिक नही है। अगर इसका कोई एक मालिक होता तो वह शायद कुछ भी कर सकता। इंटरनेट का मालिक कोई नही है या फिर कहे तो सब है। हम सब ही इंटरनेट के मालिक है, कोई कम तो कोई ज्यादा। इंटरनेट को बनाने वाला भी कोई एक नही है बल्कि जो भी इंटरनेट पर सेवाएं प्रदान कर रहे है वह सब ही इंटरनेट को बनाने वाले में से एक है। लेकिन कुछ बड़े मेकर्स की बात करे तो वह Google और Facebook जैसी कम्पनिया है जिनका लोग सबसे ज्यादा इस्तेमाल करते है।
 

इंटरनेट का आविष्कार

इंटरनेट के आविष्कार के लिए हम सिर्फ एक व्यक्ति को क्रेडिट नहीं दे सकते हैं। इंटरनेट को इस दुनिआ में लाने का वैज्ञानिकों, प्रोग्रामर और इंजीनियरों जैसे दर्जनों लोगों का काम था, जिन्होंने प्रत्येक नई सुविधाओं और प्रौद्योगिकियों को विकसित किया।

वास्तव में इंटरनेट का निर्माण करने के लिए तकनीक अस्तित्व में आने से पहले, कई वैज्ञानिकों ने पहले से ही जानकारी के विश्वव्यापी नेटवर्क के अस्तित्व की उम्मीद की थी। 1900 के दशक की शुरुआत में निकोला टेस्ला ने “विश्व वायरलेस सिस्टम” का विचार किया, और पॉल ओटेल और वन्नेवर बुश जैसे दूरदर्शी विचारकों ने 1930 और 1940 के दशक में मशीनीकृत, खोज योग्य स्टोरेज सिस्टम की मशीनीकृत, खोज योग्य स्टोरेज सिस्टम की कल्पना की।

फिर भी, इंटरनेट के लिए पहला व्यावहारिक सिमेंटिक्स 1960 के दशक तक नहीं पहुंच पाया। इंटरनेट का पहला व्यावहारिक प्रोटोटाइप 1960 के दशक के अंत में एआरपीएएनईटी, या एडवांस्ड रिसर्च प्रोजेक्ट्स एजेंसी नेटवर्क के निर्माण के साथ आया था। मूल रूप से यू.एस. डिपार्टमेंट ऑफ डिफेंस द्वारा वित्त पोषित, एआरपीएएनईटी ने कई कंप्यूटरों को एक नेटवर्क पर संवाद करने की अनुमति देने के लिए पैकेट स्विचिंग का उपयोग किया। 1970 के दशक में वैज्ञानिकों ने रॉबर्ट कान और विंटन सेर्फ़ ने ट्रांसमिशन कंट्रोल प्रोटोकॉल और इंटरनेट प्रोटोकॉल, या टीसीपी/आईपी विकसित करने के बाद 1970 के दशक में प्रौद्योगिकी जारी रखी, एक संचार मॉडल जो मानकों को निर्धारित करता है कि डेटा को एकाधिक नेटवर्क के बीच कैसे प्रसारित किया जा सकता है। ARPANET ने 1 जनवरी 1983 को टीसीपी/आईपी अपनाया, और वहां से शोधकर्ताओं ने “नेटवर्क के नेटवर्क” को इकट्ठा करना शुरू किया जो आधुनिक इंटरनेट बन गया। तब ऑनलाइन दुनिया ने 1990 में एक और अधिक पहचानने योग्य फॉर्म लिया, जब कंप्यूटर वैज्ञानिक टिम बर्नर्स-ली ने वर्ल्ड वाइड वेब का आविष्कार किया। हालांकि यह अक्सर इंटरनेट से उलझन में है, वेब वास्तव में वेबसाइटों और हाइपरलिंक्स के रूप में ऑनलाइन डेटा तक पहुंचने का सबसे आम माध्यम है। वेब ने जनता के बीच इंटरनेट को लोकप्रिय बनाने में मदद की।

 

इंटरनेट के पिता कौन हैं ?

Vinton Gray Cerf ForMemRS को इंटरनेट का पिता कहा जाता है। Vinton Gray Cerf ForMemRS का जन्म 23 जून, 1943 में हुआ था। यह एक अमेरिकी इंटरनेट अग्रणी है, इन्हे “इंटरनेट के पिता” के नाम से पहचाना जाता है, इनके इस नाम को टीसीपी / आईपी सह-आविष्कारक बॉब कान के साथ साझा किया जाता है।

 

Internet का छात्रों पर प्रभाव

इंटरनेट एक कंप्यूटर नेटवर्क है जो विभिन्न प्रकार की सूचना और संचार सुविधाएं प्रदान करता है, जिसमें इंटरकनेक्टेड संचार प्रोटोकॉल शामिल हैं। इंटरनेट पूरी दुनिया से करीब से जोड़ने का माध्यम है। अन्य लोगों से जुड़ने, फ़ाइलों को साझा करने, मनोरंजन, सूचना और कई अन्य गतिविधियों को साझा करने के लिए इंटरनेट का उपयोग करते हैं जो उपयोगी और फायदेमंद है। आज, लगभग सभी स्कूल और कॉलेज चॉकबोर्ड के उपयोग को त्यागकर लैपटॉप और प्रोजेक्टर की ओर चले गए हैं। आजकल के छात्र ऑनलाइन वीडियो के माध्यम से पढ़ते हैं। संचार सबसे महत्वपूर्ण उपहार है जिसे इंटरनेट ने आम लोगों को दिया है। सोशल नेटवर्किंग साइट्स के साथ ई-मेल, एक प्रमुख उदाहरण है। इंटरनेट जो लगभग हर किसी के द्वारा सराहना की जाती है और जीवन को काफी हद तक आसान बना देती है।

इंटरनेट स्कूलों और छात्रों के लिए विभिन्न प्रकार के ज्ञान का आदान-प्रदान करने की अनुमति देता है। इस तरह छात्रों को कार्यात्मक और तकनीकी जोखिम रखने में मदद करते हैं जो बाद में उन्हें जीवन में मदद करती है। इसके अलावा एक बहुत बड़ा लाभ ऑनलाइन किताबें हैं, ऑनलाइन इंटरनेट पर यह सामग्री छात्रों की सहायता करती है जो सीखने की प्रक्रिया को बहुत आसान बना देता हैं इंटरनेट प्रौद्योगिकियों के विकास ने सभी देशों में शिक्षा का स्तर बढ़ा दिया है और स्कूलों में छात्रों को सिखाए जाने के तरीके को बहुत आसान बना दिया है। वर्तमान पीढ़ी के लिए इंटरनेट का उपयोग बहुत जरूरी है। आज का छात्र सबसे भाग्यशाली हैं कि उनके पास आधुनिक तकनीक उनके लिए आसानी से उपलब्ध है, अतीत के विपरीत जब छात्रों को अपनी किताबों पर भरोसा करना था और वह किताबें सिर्फ पुस्तकालयों में ही मिल सकती थी। छात्रों के लिए इंटरनेट पर विभिन्न उद्देश्यों के लिए विभिन्न टूल उपलब्ध हैं जिनका उपयोग वे आसानी से कर सकते हैं।

 

 

इंटरनेट का क्या प्रभाव पड़ता है? What is The Influence of Internet

क्या आप आज के समय में बिना इंटरनेट के रह सकते हो? जवाब जरूर ‘नही’ होगा। क्योंकि इंटरनेट अपनी सुविधा का हमारे ऊपर इतना प्रभाव छोड़ चुका है की उसके बिना अब काम नही चल सकता। आज हम इंटरनेट के जरिये एक दूसरे से कनेक्ट रह सकते है, कोई भी जानकारी प्राप्त कर सकते है, नए मित्र बना सकते है और भी कई सारे काम कर सकते है।

इंटरनेट के जरिये आज हम बिजली का बिल, पानी का बिल आदि घर पर बैठे बैठे ही भर सकते है। यह इंटरनेट की ही कृपा है की आज हैम अपने छोटे से मोबाइल के जरिये पूरी दुनिया से जुड़ सकते है और जो मन चाहे वह देख सकते है व पढ़ सकते है। यह सब इंटरनेट का प्रभाव ही है। आज हम दिन का ज्यादातर वक्त इंटरनेट के साथ गुजरते है और यही आज कल की पीढ़ी पर इंटरनेट का प्रभाव है।
 

कंप्यूटर और इंटरनेट का सम्बन्ध

कंप्यूटर और इंटरनेट उपयोग विद्यालय के छात्रों द्वारा मानकीकृत परीक्षणों के प्रदर्शन के बीच संबंधों की खोज की गई। अध्ययन से प्राप्त आंकड़ों के साथ, सहसंबंधित अध्ययन ने विद्यालय के छात्रों पर ध्यान केंद्रित किया जो मानकीकृत परीक्षण करने में सक्षम थे। छात्र होमवर्क के लिए कंप्यूटर और इंटरनेट के इस्तेमाल करे जिससे उनके प्रदर्शन के बीच संबंध, मार्गों की गणना, गणना, लागू समस्याओं, विज्ञान और सामाजिक अध्ययन की जांच की गई। इंटरनेट और कंप्यूटर का उपयोग करके पारिश्रमिक परीक्षण पर छात्रों के प्रदर्शन के साथ महत्वपूर्ण सकारात्मक संबंध था। होमवर्क के लिए कंप्यूटर का उपयोग करने वाले छह परीक्षणों में छात्रों के प्रदर्शन के साथ कोई महत्वपूर्ण संबंध नहीं था। इंटरनेट के लिए कंप्यूटर का उपयोग करने वाले छात्रों ने उन लोगों की तुलना में काफी अधिक स्कोर किया जो मार्ग समझ, गणना और विज्ञान परीक्षणों पर नहीं थे। लेकिन जिन छात्रों ने होमवर्क के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल उसी स्तर पर किया था, जिन्होंने उन सभी छह परीक्षणों पर परीक्षण नहीं किया था, जिनकी जांच की गई थी। छात्रों द्वारा इंटरनेट का उपयोग मार्ग समझ, गणना और विज्ञान परीक्षणों पर छात्रों के प्रदर्शन के लिए फायदेमंद हो सकता है और इसलिए इसे प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।

 

भारत की कुल कितनी आबादी इंटरनेट का इस्तेमाल करती है ?

भारत में इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या जून 2018 तक 500 मिलियन तक थी, आईएएमएआई और कंटार आईएमआरबी की एक रिपोर्ट के अनुसार दिसंबर 2017 के अंत में, भारत में 481 मिलियन उपयोगकर्ता थे, जो 2016 से 11.34% बढ़ रहे थे। रिपोर्ट के निष्कर्षों के मुताबिक, शहरी भारत ने दिसंबर 2016 से 9.66% की वृद्धि देखी और दिसंबर 2017 तक लगभग 295 मिलियन इंटरनेट उपयोगकर्ता होने का अनुमान लगाया है।

 

क्या इंटरनेट पर दी गयी सारी जानकारी सही होती है ?

इसका उत्तर है नहीं! इंटरनेट पर दी गयी सारी जानकरी सही नहीं होती है अगर हम विकिपीडिया या किसी अन्य प्रतिष्ठित वेबसाइट की बात करें तो यह विश्वसनीय स्रोतों से आते हैं तो हम केवल इनकी जानकारी पर भरोसा कर सकते हैं। इंटरनेट पर बहुत सारी ऐसी वेबसाइटें है जो पैसे के लिए धोखाधड़ी करती हैं।

 

 

इंटरनेट के फायदे – Benefits of Internet

इंटरनेट के कई सारे फायदे है। लगभग इतने, की गिनती मुश्किल है। आइये जानते है कुछ प्रमुख फायदे :

1. सूचना भेज सकते है
2. ऑनलाइन बिकक भर सकते है
3. आफिस से जुड़े काम कर सकते है
4. जो चाहे वो पढ़ सकते है
5. घर बैठे बैठे ऑनलाइन शॉपिंग के माध्यम से खरीददारी कर सकते है
6. अपने बिजनेस को बढ़ावा दे सकते है
7. फ्रीलांसिंग जैसे कामो से पैसे कमा सकते है
8. मनोरंजन भी भरपूर है
 

इंटरनेट के नुकसान – Disadvantages of Internet in Hindi

1. काफी समय बर्बाद होता है रोजाना
2. पैसे भी देने पड़ते है इसके लिए
3. इंटरनेट के माध्यम से कई सारे फ्रॉड भी हो सकते है
4. हैकिंग आदि के माध्यम से डेटा चोरी हो जाते है
5. काफी स्पैम भी होता है ईमेल आदि के द्वारा
6. इसकी धीरे धीरे लत लग जाती है
7. सारे दिन कंप्यूटर आदि के चिपके रहने से स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है

तो दोस्तो, आज के इस पोस्ट में हमने ‘Internet क्या है’, ‘Internet कैसे काम करता है’, ‘Internet के फायदे और नुकसान क्या है’, ‘Internet का मालिक कौन है’, ‘Internet का क्या प्रभाव पड़ता है’ आदि सवालो के जवाब जाने और Internet के बारे में खूब जानकारी हासिल की। आने वाले समय में भी हमसे जुड़े रहे और ऐसी ही अन्य जानकारियां प्राप्त करते रहें।
 

इंटरनेट के 10 सबसे लोकप्रिय उपयोग

  1. साइबर स्पेस पर कम से कम 85% लोग ई-मेल भेजते और प्राप्त करते हैं। और साथ ही 20 मिलियन ई-मेल संदेश हर हफ्ते इंटरनेट से भेजा करते हैं।
  2. इंटरनेट की सहायता से बहुत सारे लोग अपने वर्क की रीसर्च करते हैं।
  3. इंटरनेट का उपयोग फाइल डाउनलोड करने के लिए भी करते हैं।
  4. समूह चर्चा (ग्रुप टॉक) कर सकते हैं।
  5. इंटरनेट से लाइव गेम्स भी चला सकते हैं।
  6. शिक्षा और आत्म सुधार और ऑनलाइन पाठ्यक्रम और कार्यशालाओं को भी इंटरनेट से लाभ मिला है। जिस कारण इंटरनेट का इस्तेमाल इसमें किया जाता है।
  7. दोस्ती और डेटिंग के लिए भी इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं और यह बहुत बड़े स्तर पर चल भी रहा है।
  8. इलेक्ट्रॉनिक समाचार पत्र और पत्रिकाएं भी बहुत चल रही हैं इंटरनेट पर
  9. नौकरी की खोज के लिए भी इंटरनेट का बहुत पड़े पैमाने पर इस्तेमाल होता है और यह बहुत असरकारक भी है।
  10. इंटरनेट की सहायता ऐसे खरीदारी भी की जाती है। इसपर विश्वास करना मुश्किल है पर “साइबरमोल्स” पर बिक्री अब दुकानदारों की तुलना में बढ़ रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here