Amplifier क्या है ? Amplifier क्या काम करता है ? | What is Amplifier in Hindi

आए दिन टेक्नोलॉजी से भरे इस जमाने में आपके सामने कई सारे नए नए टूल्स और उनके नाम आते रहते होंगे। ऐसे में अगर आप इन टूल्स के बारे में नहीं जानोगे और आपको नहीं पता होगा कि यह क्या काम करते हैं तो शायद आप काफी पीछे रह जाओगे और इस दौड़ में हिस्सा नहीं ले पाओगे इसलिए जरूरी है कि आपको टेक्नोलॉजी के बारे में ज्यादा से ज्यादा पता हो। तो आईये जानते हैं कि Amplifier क्या होता है ?

आप सभी ने Amplifier का नाम तो सुना होगा लेकिन आप में से काफी कम लोग जानते होंगे कि Amplifier क्या है और Amplifier क्या काम करता है। आज मैं आपको इस पोस्ट में बताऊंगा कि Amplifier क्या है और यह क्या काम करता है। तो चलिए आगे बढ़ते हैं और जानते हैं इसके बारे में।
 

 

Amplifier क्या है ? What is Amplifier in Hindi

Amplifier एक तरह का टूल या फिर कहे तो एक तरह का ऐसा इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो कि सिग्नल क्षमता को बढ़ाता है। यह एक प्रकार का Two-Port इलेक्ट्रॉनिक सर्किट होता है जो कि बिजली उत्पादन से इलेक्ट्रॉनिक पावर का उपयोग करते हुए जुड़े हुए इनपुट टर्मिनल पर आये सिग्नल्स को Improve करता है और इससे काफी लोगों को अलग-अलग तरह की हेल्प मिलती है इसलिए इसे काम में लेते हैं।
 

 

Amplifier क्या काम करता है ? How Amplifier Works ?

दरअसल एक एंपलीफायर किसी भी डिवाइस के अंदर एक प्रकार का टूल या फिर कहो तो हार्डवेयर होता है और यह हमेशा इलेक्ट्रिक सर्किट होता है। एंपलीफायर आजकल की नई तकनीक वाले उपकरणों के फंडामेंटल्स माने जाते हैं और यह लगभग सभी में मौजूद होते हैं।

इनका काम केवल मात्र सिग्नल को बढ़ाना है ताकि यूजर को ज्यादा बेहतर एक्सपीरियंस मिल सके। अगर आपको लगता है कि एंपलीफायर केवल एक ही तरीके के होते हैं जो कि म्यूजिक में काम आते हैं तो आपको बता दें कि एंपलीफायर का काम सिग्नल बढ़ाना होता है भले वह म्यूजिक की बीट का हो या फिर फ्रीक्वेंसी की रेंज का, वह एंपलीफायर ही कहलाएगा और एंपलीफायर को इन भागों में वर्गीकृत किया गया है जो अलग अलग है।

Amplifier के बारे में जानकारी – Details About Amplifier in Hindi

दुनिया का सबसे पहला Amplifier 1906 में Lee De Forest के द्वारा बनाया गया है और यह केवल एक triode vacuum tube था। आज के समय में यह टेक्नोलॉजी बेहतर हो गई है और एंपलीफायर में अब ट्यूब की जगह ट्रांजिस्टर का उपयोग किया जाता है लेकिन कई जगह अब भी ट्यूब की तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है जो कि पहले से काफी बेहतर है।

अब आप सभी को यह तो अंदाज अलग गया होगा कि टेलीफोन का आविष्कार एंपलीफायर से काफी पहले हो गया था लेकिन टेलीफोन में जब सिग्नल का आविष्कार हुआ तो एंपलीफायर टेलीफोन कि दुनिया से भी कनेक्ट हो गया और इसका इस्तेमाल सिग्नल को इंप्रूव करने के लिए किया गया और आज भी किया जाता है। बस जहा एक तरफ ट्यूब का काम ले सकता वहीं दूसरी तरफ अब ट्रांजिस्टर का काम लिया जाता है।

Amplifier की तकनीक पहले से आप काफी विकसित हो चुकी है और इस स्मार्टफोन में Amplifier के काफी बेहतरीन तकनीक ट्रांजिस्टर के जरिए या फिर कहे तो माइक्रो ट्रांजिस्टर के जरिए उपयोग की जाती है जो कि काफी बेहतरीन है और इसका काम सिग्नल पर ध्यान देकर उन्हें इंप्रूव करना है। आपको बता दें कि इस तकनीक का उपयोग FM Radio की दुनिया में भी काफी ज्यादा होता है।

तो दोस्तो, उम्मीद करता हूं कि आपको हमारी यह Amplifier से जुड़ी हुई पोस्ट पसंद आई होगी तो आप जान गए होंगे कि Amplifier क्या है और Amplifier कैसे काम करता है।

हमारे ब्लॉग के फ्री न्यूज़ लेटर को सब्सक्राइब जरूर करें और इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले।
 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here